Plasma therapy kise kahate hain?
corona virus

Plasma therapy kise kahate hain?

plasma therapy kise kahate hain? और आखिर ये plasma therapy काम कैस करती है? अगर आप भी इस सवाल से जूझ रहे है तो लेख पढ़िए और समझिए आसान भाषा में।

Plasma therapy kise kahate hain?

Plasma therapy  ये नाम आप अब तक टीवी पे, अखबारों में, या किसी जानने वाले से, कहीं न कहीं से तो सुन ही चुके होंगे और इस नाम के साथ आने वाले वादे भी जो वैज्ञानिक कर रहे हैं।अब अगर आप जीव विज्ञान के क्षेत्र से नहीं हैं तो ये सवाल आप के मन मे ज़रूर आया होगा कि ससुरी ई बला है क्या जो हर जगह छाई हुई है, और इन वैज्ञानिकों की बात में कितना दम है।

तो आइए मैं आप को इसे अपनी भाषा मे( अरे मतलब आसान भाषा में) समझाने की कोशिश करता हूँ। plasma therapy में दो शब्द हैं- plasma और therapy( मतलब उपचार)। तो plasma therapy का अर्थ है -plasma से उपचार।

तो इसलिए plasma therapy को समझने के लिए पहले हमें समझना पड़ेगा कि plasma क्या है। तो चलिए इसे समझने की कोशिश करते है।

हमारा खून(blood) दो तरह के components( अवयव) से मिलकर बनता है, पहला liquid(यानी तरल) component होता है और दूसरा solid यानी ठोस component।

अब ये जो liquid component है उसे ही हम plasma कहते है। इस plasma में खून का जो solid component है, जैसे- रक्त की कोशिकाएं(cells), RBC, Wbc, platelets, इत्यादि, सब तैरते रहते है।

तो plasma therapy में जो conona के मरीज़ ठीक हो गए है उनके खून से plasma निकाल के नए गंभीर corona के मरीज़ों के शरीर मे डालते हैं। और इसे ही plasma therapy यानी plasma से उपचार कहा जाता है।

अब आप ये ज़रूर सोच रहे होंगे कि ऐसी कौन सी संजीवनी बूटी होती है corona से ठीक हुए मरीज़ों के खून में कि उनका plasma देने से दूसरे मरीज़ ठीक होने लगते है।

तो इस संजीवनी बूटी का नाम है antibody । Antibody एक तरह की प्रोटीन होती हैं, और इन्हें हमारे खून में मौजूद white blood cells( सफेद रक्त कोशिकाएं) बनाती है। 

अब ये जो antibody है, इसकी एक खास बात होती है। एक प्रकार की antibody बस एक विशिष्ट सूक्ष्म जीव ( specific microorganism) पर ही काम करती है। Antibody में एक हिस्सा होता है जो उस सूक्ष्म जीव को पहचानता है, एक और हिस्सा होता है जो खून में मौजूद आक्रामक कोशिकाओं को बुला के उस नन्हे-मुन्हे सूक्ष्म जीव की हत्या करवा देता है।

अब आप किसी को पहचान तभी सकते है जब आप ने उसे पहले कभी देखा हो। ठीक इसी प्रकार हमारा शरीर भी काम करता है, अगर कोई ऐसा सूक्ष्म जीव हमारे शरीर मे आ गया जिसे शरीर ने पहले कभी न देख हो तो खून में मौजूद WBC उसकी पहचान करने पहुँच जाती है। पहचान करने के बाद उसके खिलाफ antibody बनाने लगती है और उस सूक्ष्म जीव का पहचान पत्र उस antibody को दे देती है, की जाओ और इसे मार आओ। 

हर किसी के शरीर की बीमारियों से लड़ने की क्षमता एक जैसी नहीं होती। इसी लिए कुछ लोगो मे ये काम जल्दी हो जाता है और वो अपने आप ठीक हो जाते है, और कुछ में इतनी देर लगती है कि वो सूक्ष्म जीव शरीर की प्रतिरोधक तंत्र पे भारी पड़ जाता है उनमें बीमारी गंभीर रूप ले लेती है।

मेरे ख्याल के अब आप को अपने सवाल, Plasma therapy kise kahate hain? , का जवाब मिल गया होगा। अगर आप आसान भाषा में plasma therapy के बारे और जानना चाहते है तो comment कर के मुझे बताएँ।

plasma therapy kise kahate hai

Kya plasma therapy se corona ka ilaj ho sakta hai?

ऊपर जो मैंने राम कथा सुनाई है उससे आप ये समझ ही गए होंगे कि plasma therapy kise kahate hain,और ये भी कि इन वैज्ञानिकों की बातों में दम तो है। plasma therapy covid 19 का स्थाई इलाज तो नही है पर इससे मृत्यु दर कम करने में बहुत सहायता मिलेगी, और जब तक स्थाई इलाज नही खोज जाता तब तक यही डूबते लोगों का सहारा है। 

आइए china के एक अस्पताल में हुई इस research पर एक नज़र डालते हैं। इस study में 5 गंभीर रूप से बीमार corona के मरीजों को लिया गया। ये पाँचों मरीज़ covid 19 की एक complication pneumonia से पीड़ित थे और ventilator पर थे, और इनके शरीर मे virus की मात्रा लगातार बढ़ती ही जा रही थी। इन सभी मरीज़ों को plasma therapy दी गयी। plasma therapy देने के तीन दिन बाद ही 5 में से 4 मरीजों के शरीर का तापमान सामान्य हो गया, उनके शरीर मे virus की मात्रा भी कम होने लगी और करीब 12 दीन के अंदर ना के बराबर हो गयी। 5 में से 3 मरीज़ों को ventilation से भी हटा लिया गया। इन 5 मरीज़ों में से 3 को स्वस्थ अवस्था मे अस्पताल से डिसचार्ज दे दिया और बाकी दो की हालत plasma therapy के बाद स्थाई हो गयी।

अगर इतनी गंभीर हालत में इनका इलाज न होता तो इनकी मृत्यु निश्चित थी। 

Plasma therapy का इस्तेमाल किसी महामारी से लड़ने के लिए पहली बार नही किया जा रहा। इसका इस्तेमाल corona virus की दूसरी प्रजातियों से होने वाली बीमारी SARS 1 और MERS में भी किया गया था, और 2009 की H1N1 महामारी में भी।

Corona ke ilaj ka kya aur koi vikalp hai?

pharmacotherapy- दवाइयों से इलाज

Corona virus अपनी संख्या बढ़ाने के लिए कुछ संरचनात्मक proteins का इस्तेमाल करता है जैसे- 3 chymotrypsin like protease , papain like protease, helicase, and RNA- dependent RNA polymerase. अब ये सब संरचनात्मक proteins में और hepatitis B, hepatitis C , HIV में मिलने वाले proteins में कुछ समानताएं होती हैं। तो विचार ये है कि इन बीमारियों में इस्तेमाल होने वाली दवाइयों को corona पे इस्तेमाल किया जाए। इस सभी विकल्पों पे अभी शोध जारी है। और जिस समय पे ये लेख पब्लिश हुआ है उस समय तक कोई और इलाज नही ढूंढ गया है।

मैंने नीचे कुछ दवाइयों के नाम लिखें है जिन पर शोध हो रहा है और इन मे से कुछ अस्पतालों में इस्तेमाल भी की जा रही हैं।

1.Remdesivir 
2.chloroquine and Hydroxychloroquine 
3.Lopinavir/Ritonavir
4.Ribavirin
5.Nitazoxanide
6.Nelfinavir
7.Interferon alpha
8.Baricitinib
9.Tocilizumab
10.Arbidol

Source: Review of Emerging Pharmacotherapy for the Treatment of Coronavirus Disease 2019

अब अगर इन दवाइयों के बारे में आप और जानना चाहते है तो ये research पढ़ें और इसे अगर आसान भाषा मे समझना चाहते है तो नीचे comment कर के मुझे बताए।

plasma therapy kise kahate hai

Reference

Deployment of convalescent plasma for the prevention and treatment of COVID-19

Convalescent plasma: A possible treatment of COVID-19 in India

Treatment of 5 Critically Ill Patients With COVID-19 With Convalescent Plasma

Effectiveness of convalescent plasma therapy in severe COVID-19 patients

Plasma therapy shows positive results on COVID-19 patients,- live mint

One thought on “Plasma therapy kise kahate hain?

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *